Pearl Farming Business Idea: मोती की खेती का बिज़नेस करें, कमाई लाखों में होगी

Pearl Farming Business Idea: अगर आप कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाने वाला बिज़नेस करना चाहते हो, तो मोती की खेती आपके लिए सबसे बेस्ट बिज़नेस है। जिस तरह से हीरा, सोना, चाँदी की कीमत बाजार में ज्यादा होती है लेकिन फिर भी लोग खरीदते है। ठीक उसी तरह मोती की भी कीमत बाजार में ज्यादा होती है और लोग इसे खरीदते है, और काफी ज्यादा मुनाफा होता है। 

आभूषण बनाने के लिए अक्सर मोती को भी उपयोग में लाया जाता है। गले का माला, हार, सजावट के लिए, अंगूठी में काफी जगह मोती का उपयोग होता है। और इसकी सबसे ज्यादा बिक्री शादी, विवाह के मौसम में होता है। इसीलिए ये कम समय में ज्यादा मुनाफा देने वाला बिज़नेस है। तो अगर आप गाँव में रहते है या फिर शहर में, आप मोती की खेती कर के लाखो का मुनाफा एक महीने में कमा सकते है। 

इस पोस्ट में आपको मोती की खेती करने के लिए क्या क्या चाहिए, कितना लागत लगेगा, मोती की खेती कैसे कर सकते है, उसकी मार्केटिंग कैसे करेंगे, उससे कितना मुनाफा होगा। ये सारी जानकारी आपको इस पोस्ट के माधयम से पुरे विस्तार से दूंगा।     

मोती की खेती क्या है?(What is Perl Farming Business?)   

हम सभी ने बचपन से ही सुनते आ रहे है की शिप में मोती मिलता है। लेकिन ये बनता कैसे है और इसकी खेती कैसे कर सकते है वो आज हम इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। मोती 3 प्रकार के होते है। एक प्राकृतिक मोती(Natural Pearl), जो की समंदर या फिर तालाब में जो शिप पाए जाते है उसमे अपने आप प्राकृतिक तरीके से बनता है। 

दूसरा कृत्रिम तरीके(Artificial Pearl) से, जो की सिंथेटिक पदार्थ पर कृत्रिम तरीके से कोटिंग कर के बनाते है। 

और तीसरा कल्चर्ड पर्ल (पारम्परिक तरीके से)(Cultured Pearl), जो की तालाब में साफ़ पानी के अंदर शिप पालन कर के बनाया जाता है। इसमें आप अपने मन मुताबिक किसी भी आकर का मोती बना सकते है।  

तो इस पोस्ट में हम तीसरे तरीके की बात करेंगे, जिसमे आप खेती कर के अपने मन मुताबिक रंग और आकर का मोती ऊगा सकते है। 

मोती की खेती शुरू करने से पहले ध्यान रखने वाली कुछ बातें (Important Points)

मोती की खेती शुरू करने से पहले आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों का ख्याल रखना होगा। 

  • सबसे पहली बात, मोती की खेती का बिज़नेस एक लम्बी अवधी वाला बिज़नेस है, जिसमे काफी ज्यादा मेहनत, समय, और पैसा लगता है। क्युकी मोती को बनाने में 15 महीने तक का समय लगता है। 
  • खेती करने से पहले आपको सबसे पहले इसके बारे में अच्छी जानकारी लेनी होगी, इसके लिए आपको प्रशक्षित होना पड़ेगा। आप सरकार द्वारा बनाये गए कृषि विज्ञान केंद्र में जाकर प्रशक्षिण ले सकते है। 
  • आपका खेती करने वाला जगह बिलकुल सुरक्षित होना चाहिए, जहाँ बाढ़, जानवर या फिर दूसरे लोगो का आना जाना न हो। 
  • आपके तालाब में ओएस्टर(Oyster) का अच्छा श्रोत होना जरूरी है। तभी ज्यादा से ज्यादा मोती पैदा हो सकेगा। 
  • आपको मोती की खेती करने के लिए ग्राफ्टिंग(Grafting) की कला सीखना होगा। ये आप नजदीकी किसी भी मोती के फार्म में जाकर सिख सकते है वो लोग काफी अच्छा प्रशक्षिण देते है। 
  • आपके पास शुरुआत में पैसा होना जरूरी है, क्युकी इसमें आपको निवेश करना पड़ेगा। 

मोती की खेती करने में लगने वाली आवश्यक सामग्री (Pearl Farming Raw Material)  

मोती की खेती का बिज़नेस करने के लिए कुछ आवश्यक सामग्री सबसे पहले आपको खरीदना होगा। और खेती के लिए एक खास तरह का तालाब तैयार करना होगा। 

  • सबसे पहले आपको एक तालाब तैयार करना होगा। जिसकी आकर लगभग 1/2 एकड़ या 3/4 एकड़ में होना चाहिए। 
  • तालाब के पास एक छोटा घर या शेड होना अनिवार्य है। तभी आप ओएस्टर का सर्जिकल गतिविधि (Surgical Activities)कर सकते है। 
  • बाजार से आपके अच्छे क्वालिटी के ओएस्टर मस्सल (Oyster Mussels) खरीदना होगा। 
  • उसके बाद मस्सल्स (Mussels) को तालाब में रखने के लिए आपको बांस और पि वि सी पाइप की मदद से Cultural Unit तैयार करना होगा। 
  • आपको सर्जिकल सेट, टेबल, चेयर खरीदना होगा। ताकि किसी तरह का चिर फाड़(Surgery) करने में आसनी हो। 
  • इसके अलावा आपको उचित गुणवत्ता वाला मस्सल्स Mussels खरीदना होगा, जो आपको मत्स्य विभाग के किसी भी सर्टिफाइड ब्रीडर(Certified Breeder) के पास मिल जाएगा। 
  • ग्राफ्टिंग के लिए आपको Pearl Neuclus की जरूरत पड़ेगी , जो की बाजार में किसी भी पर्ल कल्चर सेंटर्स पर मिल जाएगा। 
  • अगर आप खुद से नहीं कर सकते तो आपको Skilled Worker की जरूरत होगी, जिन्हे मोती की खेती करने अच्छे से आता हो। 
  • उसके अलावा आपको अपने तालाब को हमेशा Fertilize रखना है। ताकि ओएस्टर की गुणवत्ता बरक़रार रहे। 

इसके अलावा आपको कुछ टूलकिट की जरूरत पड़ती है। जिसकी मदद से आप ओएस्टर के अंदर नुक्लेअस डाल सके और जब मोती तैयार हो जाए तो आप उसे आसानी से निकल सके। 

  • नुक्लेउस कर्रिएर (Nucleus Carrier)
  • ग्राफ्ट कर्रिएर  (Graft Carrier)
  • फोरसेप्स  (Forceps)
  • सेल इनसेरटेर (Cell Inserter)
  • ग्राफ्ट कटर (Graft Cutter)
  • शील ओपनर  (Seal Opener)
  • मसल होल्डर (Mussels Holder)
  • इंकिसिओं नाइफ (Incision Knife)
  • स्पैटुला (Spatula)
  • ऑपरेशन स्कल्पेल (Operation Scalpel)

मोती की खेती कहाँ से करना सीखे (Where To learn Pearl Farming)

मोती की खेती का बिज़नेस (Pearl Farming Business) करने से पहले इसके बारे में अच्छे से सीखना और ट्रेनिंग लेना बहुत जरूरी है। इसके लिए आप किसी भी नजदीकी मोती का उद्दमी जो की खेती करता हो, उसके पास जाकर सिख सकते है। वो काफी अच्छा प्रशिक्षण देते है। इसके अलावा आप सरकार द्वारा निर्मित कृषि विज्ञान केंद्र या भारतीय कृषि अनुसन्धान केंद्र में जाकर प्रशिक्षण ले सकते है। यहां आपको कृषि वैज्ञानिक द्वारा काफी अच्छा प्रशिक्षण दिया जाता है। ट्रेनिंग ख़त्म होने के बाद आप अपना खेती आरम्भ कर सकते है। 

मोती की खेती का बिज़नेस में लगने वाली कुल लागत (Pearl Farming Business Total Cost)

मोती की खेती (Pearl Farming) करने में आपको थोड़ा ज्यादा निवेश करना पड़ता है। क्युकी ये एक महँगी खेती है। और ये आपको बहुत ज्यादा मुनाफा देती है इसीलिए इसमें निवेश भी थोड़ा ज्यादा लगता है और समय भी। बाकि अगर कुल खर्चे की बात करें तो 4 लाख का पूरा खर्चा आता है एक बार के मोती को तैयार करने में।

अगर आप बड़े स्तर पर करना चाहते है तब तो इसमें ज्यादा खर्चा आएगा। लेकिन छोटे लेवल पर शुरू करने में कुल लागत 4 लाख तक आएगा। इसमें बहुत कुछ जुड़ा है जैसे की, तालाब निर्माण, बांस और रस्सी, अगर किराये पर जगह लिया है तो उसमे लगने वाला रेंट, सर्जरी करने वाले सेट, ओएस्टर मस्सल्स (Oyster Mussels) खरीदने में लगने वाला कीमत, Pearl Nuclei में, काम करने वाले कारीगर का वेतन, तालाब की Fertilizing and Liming में, मोती की पोस्ट-हार्वेस्टिंग (Post Harvesting) और प्रोसेसिंग में लगने वाला खर्च। ये सब मिलकर आपको 4 से 5 लाख तक का खर्चा आएगा।   

मोती की खेती कैसे करें (How to do Pearl Farming)    

मोती की खेती करने के लिए आपको निम्नलिखित स्टेप्स को अपनाना होगा। इसकी खेती करनी थोड़ी मुश्किल होती है लेकिन अगर आपके पास प्रशिक्षण है तो आप आसानी इसे कर सकते है। 

  • सबसे पहले आपको एक फार्म बनाना होगा , जहाँ पर एक तालाब और एक शेड या एक छोटा कमरा होना जरूरी है। तालाब में आपको बांस, पाइप और रस्सी की मदद से Culture Unit तैयार करना होगा। 
  • अब आपको बाजार में ओएस्टर मस्सल्स (Oyster Mussels) के बीज खरीदना होता है जो आपको मोती की खेती करने वाले उद्दमी से मिल जाएगा या फिर मत्स्य विभाग के किसी certified breeder से आसानी से खरीद सकते है। साथ ही आपको Pearl Nuclei भी खरीदना होगा। 
  • अब आपको ओएस्टर मस्सल्स Oyster Mussels को 2 से 3 दिन तक पानी में डूबा कर रखना है ताकि ये Pre-culture के लिए तैयार हो जाए। और फिर इसका आसानी से सर्जरी कर सके। 
  • अब आपको ओएस्टर की ग्राफ्टिंग(Grafting) करनी होगी। इसके लिए आपको तैयार Oyster Mussels को Surgical Scalpel से थोड़ा सा छेद कर के उसके अंदर बहुत ही सावधानी से Pearl Nuclei को डालना होता है। बाकि आप इसे अपना मनचाहा आकर और रंग दे सकते है। वो आपको ट्रेनिंग में सिखाया गया होगा। 
  • ग्राफ्टिंग करने के बाद इसे एक नायलॉन बैग में रख कर Post Operating के लिए छोड़ दिया जाता है। 
  • पोस्ट ऑपरेटिंग के बाद अब आपको 2 ओएस्टर मस्सल्स (Oyster Mussels) को एक नायलोन के बाद में डाल कर Culture Unit में लगे बांस या पाइप पर टांगना होता है। इसके साथ ही समय समय पर तालाब को साफ़ करते रहना होगा। और इसे फर्टिलाइज़ करते रहना चाहिए। 
  • इसके साथ ही आपको ओएस्टर का निरिक्षण भी करना होगा और जो ओएस्टर मृत हो चके होंगे उन्हें पानी से निकलना होता है। 
  • मोती को तैयार होने में 15 महीने से 18 महीने तक का समय लगता है। इसके बाद आप इसकी हार्वेस्टिंग कर सकते है। 
  • जब मोती हार्वेस्टिंग के लिए तैयार हो जाए तो फिर आप उसकी सर्जरी कर के मोती निकल ले और साफ पानी में धो ले। 

अब आपका मोती तैयार है, इसे आप बाजार में बेच कर काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते है।  

मोती की खेती वाले बिज़नेस से कितना मुनाफा होता है।(Pearl farming Business Profit)

बाजार में जितने भी कीमती आभूषण होते है उनमे मोती का उपयोग होता है। और ये आभूषण काफी महंगे कीमत पर बिकते है। इसीलिए मोती की भी कीमत बाजार में काफी ज्यादा मिलता है। तो आप मोती को बाजार में बेचते है तो आपने जितना उसे उगने में लगाया है उसका 3 गुना फायदा आपको बेचने पर होता है। 

इसका मतलब अगर आपने कुल 4 लाख का लागत लगाया है तो आपको 12 लाख का फायदा एक बार में होता है। इसमें भी दो तरह के मोती पैदा होते है। एक अच्छा क्वालिटी वाला मोती जिसका आकर एकदम सही होता है और यही सबसे ज्यादा कीमत पर बिकता है। जिससे आपको मुनाफा होता है। बाकि मोती औसत या फिर निम्न क्वालिटी के होते है जो की थोड़ा कम दाम में बिकता है। 

कुल मिला कर आपको इस मोती के बिज़नेस में फायदा ही फायदा है। 

मोती को कहाँ बेचे? ( Where to sell Pearl in Market)

किसी भी बिसनेस का सफल होना तभी संभव होता है जब उसके लिए उचित बाजार उपलब्ध हो और आसानी से अपने सामान को बेचा जा सके। मोती को बेचने के बहुत से तरीके है। आप सीधे सीधे बड़े बड़े जेवेलरी शॉप से संपर्क कर के उन्हें मोती सप्लाई कर सकते है, गिफ्ट की दुकानों पर मोती सप्लाई कर सकते है। 

इसके अलावा आजकल तो बहुत सरे ऑनलाइन प्लेटफार्म जैसे की Amazon, Flipkart जैसे E-Commerce जैसे प्लेटफार्म पर आप Seller बनकर मोती सीधा Customer को बेच सकते हो। साथ ही आप अपनी ब्रांडिंग कर के उसका प्रमोशन Social Media पर कर सकते हो। YouTube पर Video बना सकते हो। खुद का एक वेबसाइट(Website) बनाकर लोगो को बता सकते हो। अपना खुद का एक इ-कॉमर्स वेबसाइट(E-Commerce Website) शुरू कर सकते हो जो सिर्फ मोती का व्यापार करती हो। 

तो बेचने के बहुत से तरीके है, आप अपने हिसाब से जो सही लगे उसे उपयोग में लाओ। और मैं तो कहूंगा की ऑनलाइन जरूर Try करें और साथ ही साथ अपना आस पास के बाजार में भी संपर्क बढ़ाये और बेचने को कोशिश करें।   

मोती की खेती का बिज़नेस में मार्केटिंग कैसे करें?(Pearl Farming Business Marketing)

मोती की खेती में भी प्रतिस्पर्धा काफी बढ़ गया है। बहुत से लोग मोती की खेती करने लगे हैं। तो ऐसे में आपको सबसे पहले तो आपको जितना हो सके मोती की गुणवत्ता को उच्च स्तर का रखे। ताकि जो एक बार खरीदे वो दोबारा भी आपके पास से खरीदे और आपका परमानेंट ग्राहक बन जाए। 

उसके साथ साथ ही एक कंपनी खोल कर अपने मोती का ब्रांडिंग करें और उसको सोशल मीडिआ और सारी इ-कॉमर्स प्लेटफार्म पर उसका प्रमोशन करें। ताकि लोगो  को आपके ब्रांड के बारे में पता चले और लोग आपसे मोती खरीदे। बाकि रोजाना ऑनलाइन इसका प्रमोशन करें, इसके बारे में वीडियो बना कर, ब्लॉग लिख कर लोगो तक अपनी ब्रांड को पहुचाये। फिर जाकर आपकी अच्छी मार्केटिंग होगी और आपका मोती लाखों में बिकने लगेगा। 

मोती की बिज़नेस का पंजीकरण (Pearl Farming Business Registration)

अगर आप अपनी एक मोती की कम्पनी खोलना चाहते है, जो की मोती की एक ब्रांड बन जाए और लोग मोती खरीदने के लिए आपके ब्रांड को सबसे पहले चुने। तो आप अपना एक कंपनी खोल कर उसे PVT.LTD, LLC के अंतर्गत पंजीकृत करवा सकते है। तथा अपने लोकल अथॉरिटी (Local Authority) से ट्रेड लाइसेंस (Trade License) ले सकते हो। उसके साथ ही कंपनी के नाम से एक करंट अकाउंट बैंक(Current Bank Account) में होना चाहिए तथा इनकम टैक्स(Income Tax) भरने के लिए पैन कार्ड(Pan Card) का होना जरूरी है। और साथ ही कंपनी से जुड़े सभी दस्तावेज आपके पास होना चाहिए। 

इस तरह से ये सारी प्रक्रिया पूरी कर के आप आराम से मोती की खेती का बिज़नेस(Pearl Farming Business) आराम से कर सकते है। और महीने का आप लाखों रूपये का मुनाफा एक बार में कमा सकते है। ये कम समय में काफी ज्यादा मुनाफा देने वाला बिज़नेस है जो आपको बहुत जल्दी ही अमीर बना सकता है। 

यह भी पढ़े :- लाल मिर्च पाउडर का ये बिज़नेस घर से करें,कमाए 3000 रूपये प्रति घंटा

आलू चिप्स बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें

Leave a Comment